fb noscript
PHI LOGO

PHI Learning

Helping Teachers to Teach and Students to Learn

Helping Teachers to Teach and Students to Learn

EASTERN ECONMIC EDITION
loading image

 
PHI Learning
राजनीतिक समाजशास्त्रा की रूपरेखा (RAJN...


Share on
Share on Twitter Share on Mail Share on LinkedIn Pinterest Share on Other Networks

राजनीतिक समाजशास्त्रा की रूपरेखा (RAJNEETIK SAMAJSHASTRA KI ROOPREKHA)

Edition : दूसरा संस्करण
Pages : 1048

Print Book ISBN : 9788120351226
Binding : Paperback
Print Book Status : Available
Print Book Price : 895.00  671.25
You Save : (223.75)

eBook ISBN : 9789354438431
Ebook Status : Available
Ebook Price : 895.00  671.25
You Save : (223.75)

Description:


"राजनीतिक समाजशास्त्रा की रूपरेखाय्" का नवीन संस्करण आपके सम्मुख है। विषय सूची में अधिक बदलाव न करते हुए, भारत में चुनावी राजनीति एवं मतदान व्यवहार, राजनीतिक प्रक्रियाएं तथा राजनीतिक दल एवं दलीय प्रणालियां जैसे विषयों का उद्यतन किया गया है। एक स्वायत्त अंतरानुशासनिक वर्णसंकर अनुशासन के रूप में दृश्य शक्ति के विविध आयामों के साथ व्यवस्था में शक्तिधारक एवं शक्ति-प्रेषक की यथोचित स्थिति इसकी अध्ययन-सामग्री का बुनियादी विषय है। स्वतंत्रा रूप से उभरता यह नया विषय देश के अधिकांश विश्वविद्यालयों में स्नातक तथा स्नातकोत्तर स्तर पर राजनीति विज्ञान एवं समाजशास्त्रा केे पाठ्यक्रम में शामिल है। इस विषय पर पुस्तकों की उपलब्धता काफी कम है, और जो कृतियां मौजूद हैं वे विषय के अध्ययन-क्षेत्रा की व्यापकता और प्रासंगिकता की दृष्टि से अपर्याप्त हैं। विषय की उपयोगिता और विद्यार्थियों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए इस कृति में संदर्भगत संकल्पनाओं की प्रस्तुति सरल एवं सुबोध शैली में की गई है, और विषय के स्पष्टीकरण हेतु अपेक्षानुरूप रेखाचित्रों के माध्यम से परिच्छेदों को सुरुचिपूर्ण बनाने का प्रयास किया गया है।

यह पुस्तक राजनीति विज्ञान एवं समाजशास्त्रा के बी.ए. ‘आॅनर्स’ तथा एम.ए. के विद्यार्थियों के लिए लिखी गई है। साथ ही, यह यू.जी.सी. की नेट परीक्षा तथा सिविल सेवा परीक्षा के परीक्षार्थियों के लिए एवं राजनीति विज्ञान तथा समाजशास्त्रा के शोधर्थियों के लिए अत्यंत उपयोगी है।

प्रमुख विशेषताएं

• विषय के उद्भव एवं विकास में योगदान देने वाले नामचीन समाजशास्त्रिायों, अर्थशास्त्रिायों एवं मनोविज्ञानियों द्वारा प्रस्तुत संकल्पनाओं का सारगर्भित विवरण।
• विषयगत अध्ययन के लिए प्रयुक्त विभिन्न उपागमों का रेखाचित्रा के साथ विश्लेषण।
• राजनीतिक व्यवस्था एवं समाज के मध्य अंतर्संबंधों की विवेचना।
• राजनीतिक व्यवस्था एवं राजनीतिक प्रक्रियाओं की विश्लेषणात्मक प्रस्तुति रेखाचित्रों के साथ।
• राजनीतिक अभिजन, राजनीतिक संस्कृति, राजनीतिक समाजीकरण, राजनीतिक लामबंदी, राजनीतिक विकास, राजनीतिक आधुनिकीकरण, राजनीतिक भर्ती, राजनीतिक दल, दबाव समूह एवं नौकरशाही अवधारणाओं पर भारतीय परिप्रेक्ष्य में विशेष आलेख।
• भारत में चुनाव व्यवस्था और मतदान व्यवहार पर विशेष सामग्री एवं सभी चुनावों की परिणाम तालिका।
• पंद्रहवीं एवं 2014 में संपन्न सोलहवीं लोकसभा चुनाव पर विस्तृत चर्चा परिणाम तालिका के साथ।
• भारत में राजनीतिक प्रक्रियाएंकृराजनीति और समाज के संबंधों की विश्लेषणपरक प्रस्तुति।
• भारत में राजनीतिक दल एवं दलीय व्यवस्था पर विशेष प्रस्तुति।
• बु(िजीवियों की राजनीतिक भूमिका एवं सार्थकता जैसे समसामयिक प्रसंग पर विशेष आलेख।
• पारिभाषिक शब्दावली की विशिष्ट प्रस्तुति।

इस नवीन संस्करण में अध्याय 19 ;भारत में चुनावी राजनीति के बदलते आयाम और मतदान व्यवहारद्ध, अध्याय 20 ;भारत में राजनीतिक प्रक्रियाएंः राजनीति और समाज के मध्य संबंधद्ध, एवं अध्याय 21 ;राजनीतिक दल और दलीय प्रणालियांः भारत की दलीय प्रणालीµएक परिचयद्ध को यथासंभव संशोधित कर भारत की राजनीति से संदर्भित समसामयिक प्रसंगों पर विशेष आलेख की प्रस्तुति की जा रही है। साथ-ही, 16वीं लोकसभा चुनाव से प्रासंगिक सभी प्रकार की अद्यतन ;नच.जव.कंजमद्ध सामग्री एवं भारत की दलीय-प्रणाली पर विशिष्ट समसामयिक विवरण आपके समक्ष प्रस्तुत है।

Review the Book

Book ISBN :
Title :
Author :
Name :
Affiliation :
Contact No.
Email :
Correspondence Address :
Review :
Rate :
Empty StarEmpty StarEmpty StarEmpty StarEmpty Star
×
Enter your membership number.

loading image