PHI LOGO

PHI Learning

Helping Teachers to Teach and Students to Learn

Helping Teachers to Teach and Students to Learn

EASTERN ECONMIC EDITION

हिन्दी भाषा और इसकी शिक्षण विधियाँ : हिन्दी भाषा और शिक्षण विधियों की परिचायक (HINDI BHASHA AUR ISKI SHIKSHAN VIDHIYA) - ABOUT AUTHOR(S)


पाण्डेय, श्रुतिकान्त

श्रुतिकान्त पाण्डेय, पीएच.डी., असिस्टेंट प्रोफेसर, एमिटी विश्वविद्यालय, नोएडा। ये हिन्दी, संस्कृत तथा शिक्षाशास्त्र में स्नातकोत्तर और शिक्षाशास्त्र में विद्यावारिधि प्राप्त हैं। इन्होंने वर्ष 1991 में भाषा शिक्षक के रूप में शिक्षण अध्यवसाय की शुरुआत की। दो वर्ष एक निजी विद्यालय में प्रधानाध्यापक और चार वर्षों तक दिल्ली प्रशासन के विद्यालय में भाषा शिक्षक के रूप मंे कार्य करने के उपरान्त 2003 में इन्होंने अध्यापक.शिक्षक का दायित्व ग्रहण किया। इस बीच वे आकाशवाणी के संस्कृत और हिन्दी समाचार एकांशों और विदेश प्रसारण अनुभाग में अंशकालिक समाचार/वार्ता अनुवादक, संपादक और वाचक रहे। इन्होंने विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय, राष्ट्रीय संग्रहालय, एन.आई.आई.टी. टैक्नोलाॅजीज़ आदि को भी अनुवाद तथा पाठ्यवस्तु विकास हेतु सेवाएँ प्रदान की हैं। इनके द्वारा लिखी सात पुस्तकें विभिन्न विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में पढ़ाई जा रही हैं। इनके बीस लेख तथा शोधपत्र समाचारपत्रों, राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं।

सम्प्रति डाॅ. श्रुतिकान्त पाण्डेय हिन्दी भाषा, शिक्षण.प्रविधि, शिक्षा के दार्शनिक व सामाजिक आयामों, अध्यापक शिक्षा और भारत में शिक्षण व्यवस्था की विकास प्रक्रिया के अध्ययन.अध्यापन में संलग्न हैं। इन विषयों की स्तरीय और मानक पाठ्यसामग्री को हिन्दी माध्यम से उपलब्ध कराना इनका लक्ष्य है।


पाण्डेय, श्रुतिकान्त